सऊदी अरब में प्रधानमंत्री शहबाज के खिलाफ नारेबाजी मामले से इमरान खान ने खुद को अलग किया

इस्लामाबाद, 30 अप्रैल (भाषा) पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद को उस मामले से अलग कर लिया है, जिसमें सऊदी अरब स्थित मस्जिद-ए-नबवी की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के खिलाफ आपत्तिजनक नारेबाजी की गई थी।

शनिवार को मीडिया में आयी एक खबर के मुताबिक, इमरान खान का कहना है कि वह किसी को पाक मस्जिद में नारेबाजी करने के लिए कहने के बारे में सोच भी नहीं सकते।

‘एआरवाई न्यूज’ को दिये साक्षात्कार में खान ने कहा कि ऐसा पहली बार है, जब उनकी सरकार को अपदस्थ करने का विरोध जताने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोप में रहने वाले अप्रवासी पाकिस्तानी खुलकर सामने आ गए हैं।

इस साक्षात्कार का प्रसारण ईद पर किया जाएगा।

सामने आये साक्षात्कार के एक हिस्से में इमरान खान ने कहा, ”यह आम जनता की प्रतिक्रिया है। हम उन्हें बाहर (विरोध के वास्ते) आने के लिए नहीं कह रहे।”

उन्होंने कहा कि जो कुछ हुआ था, उसे लेकर उनमें रोष है जिसे जाहिर करने के लिए वे सामने आ रहे हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के नवनियुक्त प्रधानमंत्री शरीफ एक प्रतिनिधिमंडल के साथ सऊदी अरब की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं। प्रतिनिधिमंडल में बिलावल भुट्टो-जरदारी भी शामिल हैं। पद संभालने के बाद शरीफ की यह पहली विदेश यात्रा है।

बृहस्पतिवार को प्रतिनिधिमंडल को पवित्र मस्जिद में विरोध और नारेबाजी का सामना करना पड़ा था। इसके वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आये। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि प्रधानमंत्री शरीफ को देखते ही प्रदर्शनकारियों ने ‘‘चोर चोर’’ के नारे लगाए।

प्रधानमंत्री शरीफ और उनके बेटे हमजा पर धनशोधन के आरोप हैं। उन्होंने हालांकि कोई भी गलत काम करने से इनकार किया है और आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ मामले राजनीति से प्रेरित हैं।

एक अन्य वीडियो में तीर्थयात्री पाकिस्तानी मंत्रियों मरियम औरंगजेब और शाहज़ैन बुगती के खिलाफ अपमानजनक नारे लगाते हुए दिखे। मंत्रियों के साथ सऊदी अरब के सुरक्षाकर्मी मौजूद थे।

सऊदी अधिकारियों ने शुक्रवार को कुछ पाकिस्तानी तीर्थयात्रियों को पवित्र शहर मदीना में मस्जिद-ए-नबवी में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और उनके प्रतिनिधिमंडल के खिलाफ अपमानजनक नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

Source NBT

अपनी राय दें