सर्बिया ओपेन: नोवाक जोकोविच को हराकर चैंपियन बने रुबलेव, रूसी खिलाड़ी ने जीता सीजन का तीसरा खिताब

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, बेलग्रेड
Published by: शक्तिराज सिंह
Updated Mon, 25 Apr 2022 11:02 AM IST

सार

एंड्री रुबलेव ने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को हराकर सीजन का तीसरा खिताब अपने नाम किया। वहीं जोकोविच को इस साल सात में से पांच मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। 
 

एंड्री रुबलेव

एंड्री रुबलेव
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

विस्तार

सर्बिया ओपेन के फाइनल में एंड्री रुबलेव ने दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को हराकर सीजन का तीसरा खिताब जीता है। रूस के रुबलेव पहली बार सर्बिया ओपेन में खेल रहे थे और उन्होंने जीत के साथ इस प्रतियोगिता का आगाज किया है। इस मैच में दोनों खिलाड़ियों के बीच जबरदस्त जंग देखने को मिली। रुबलेव ने जोकोविच के खिलाफ जबरदस्त ताकत का नमूना दिखाया और उनके घरेलू मैदान पर 6-2, 6-7, 6-0 के अंतर से मात दी। जोकोविच अपने घरेलू मैदान पर जीत के प्रबल दावेदार थे। 

पहला सेट 6-2 के अंतर से आसानी से जीतने के बाद रुबलेव दूसरे सेट में पिछड़ गए थे, लेकिन इस 24 वर्षीय खिलाड़ी ने पांच प्वाइंट बचाकर मुकाबले को टाई ब्रेक तक पहुंचाया। हालांकि, जोकोविच इस सेट को जीतने में कामयाब रहे। इसके बाद तीसरे सेट में रुबलेव ने बेहतरीन खेल दिखाया और सर्बिया के दिग्गज को कोई प्वाइंट नहीं लेने दिया। तीसरा सेट 6-0 से जीतने के साथ ही उन्होंने मैच और खिताब अपने नाम किया। यह मुकबला दो घंटे 29 मिनट तक चला। 

फैंस का फिर से आना सुखद

ट्रॉफी समारोह के दौरान रुबलेव ने जोकोविच से कहा कि आपके खिलाफ खेलना और दूसरी बार कोर्ट में उतरना शानदार रहा। मुझे उम्मीद है कि हमारे बीच आगे भी कई मैच होंगे। मुझे यहां बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। यह बेहतरीन शहर है। यह वाकई खास है। मैं सभी समर्थकों से एक सप्ताह तक सभी खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए धन्यवाद कहना चाहूंगा। फिर से पूरे कोर्ट में दर्शकों को देखना हम सभी के लिए खास है। 

रुबलेव ने की नडाल की बराबरी

साल 2022 में खिताब जीतने के मामले में रुबलेव ने स्पेन के राफेल नडाल की बराबरी कर ली है। इससे पहले फरवरी में उन्होंने मार्सेली और दुबई में खिताब जीते थे। जोकोविच इस सीजन के अपने तीसरे टूर्नामेंट में भाग ले रहे थे। हालांकि, इस साल वो अब तक कोई खिताब नहीं जीत पाए हैं। इससे पहले मोंटे कार्लो मास्टर्स और दुबई चैंपियनशिप में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था, जबकि कोरोना का टीका न लगवाने के कारण वो ऑस्ट्रेलियन ओपेन में नहीं खेल पाए थे। 

Source Amar Ujala

अपनी राय दें