खुशखबरी : टोक्यो ओलंपिक में निशाना साधेंगे ट्राईसिटी के तीन शूटर, चंडीगढ़ की पहली महिला निशानेबाज से बढ़ी उम्मीदें 


अंजुम, अंगदवीर और यशस्वी
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी

ख़बर सुनें

चंडीगढ़ ट्राईसिटी के तीन शूटर  इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में चुनौती पेश करेंगे। चंडीगढ़ की पहली महिला निशानेबाज अंजुम मोदगिल, पंचकूला की यशस्वी देसवाल और डेराबस्सी के अंगद वीर
 बाजवा ओलंपिक में निशाना लगाएंगे। 

नेशनल राइफल शूटिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनएआरआई) की राष्ट्रीय चयन समिति की बैठक में टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय निशानेबाज दल का चयन किया गया। करीब दो साल पहले ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली अंजुम 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन इवेंट में भाग लेंगी।

यह पहला ऐसा मौका होगा, जब शहर की किसी महिला निशानेबाज को खेलों के महाकुंभ में भाग लेने का अवसर मिलेगा। अंजुम के परिवार में उनकी मां शुभ और पिता सुदर्शन मोदगिल ने बेटी के ओलंपिक चयन पर खुशी जताई है। उन्हें मीडिया के माध्यम से ही इसकी जानकारी मिली है। अंजुम की मां ने बेटी को शूटिंग के प्रति प्रोत्साहित करने में अहम भूमिका निभाई है। हाल ही में विश्व कप शूटिंग में उनका शानदार प्रदर्शन रहा था।

करीब दो वर्ष पहले ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली अंजुम 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन इवेंट में भारतीय चुनौती पेश करेगी। अंजुम मोदगिल चंडीगढ़ के सेक्टर 37 की रहने वाली है और पिछले कई साल से भारतीय सीनियर महिला टीम की सदस्य हैं।

पंचकूला की रहने वाली यशस्वी देसवाल ओलंपिक में 10 मीटर एयर पिस्टल में हिस्सा लेंगी। इनके साथ हरियाणा की मनु भाखर भी होंगी। यशस्वी ने सेक्टर 10 स्थित डीएवी कॉलेज से पढ़ाई की है। वे 2019 में रियो डी जेनरो में खेले गए वर्ल्ड कप में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीत चुकीं हैं।

अंगदवीर सिंह बाजवा ओलंपिक में स्कीट पुरुष वर्ग में हिस्सा लेंगे। वर्ष 2018 में कुवैत में एशियन शॉटगन चैंपियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता। उनके पिता ने डेराबस्सी स्थित अपने घर पर ही स्कीट की शूटिंग रेंज बनाई हुई है। इसी रेंज पर अंगदवीर सिंह अभ्यास करते हैं।

विस्तार

चंडीगढ़ ट्राईसिटी के तीन शूटर  इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में चुनौती पेश करेंगे। चंडीगढ़ की पहली महिला निशानेबाज अंजुम मोदगिल, पंचकूला की यशस्वी देसवाल और डेराबस्सी के अंगद वीर

 बाजवा ओलंपिक में निशाना लगाएंगे। 

नेशनल राइफल शूटिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनएआरआई) की राष्ट्रीय चयन समिति की बैठक में टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय निशानेबाज दल का चयन किया गया। करीब दो साल पहले ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली अंजुम 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन इवेंट में भाग लेंगी।

यह पहला ऐसा मौका होगा, जब शहर की किसी महिला निशानेबाज को खेलों के महाकुंभ में भाग लेने का अवसर मिलेगा। अंजुम के परिवार में उनकी मां शुभ और पिता सुदर्शन मोदगिल ने बेटी के ओलंपिक चयन पर खुशी जताई है। उन्हें मीडिया के माध्यम से ही इसकी जानकारी मिली है। अंजुम की मां ने बेटी को शूटिंग के प्रति प्रोत्साहित करने में अहम भूमिका निभाई है। हाल ही में विश्व कप शूटिंग में उनका शानदार प्रदर्शन रहा था।


आगे पढ़ें

अंजुम ने दो वर्ष पहले हासिल किया था ओलंपिक कोटा



Source Amar Ujala

अपनी राय दें