बिहार: बीजेपी ने बदली रणनीति, मौजूदा विधायकों का भी टिकट तय नहीं

बिहार: बीजेपी ने बदली रणनीति, मौजूदा विधायकों का भी टिकट तय नहीं


नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी के उम्मीदवारों के नाम को लेकर पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के घर मंथन हुआ. पार्टी प्रत्याशियों को लेकर हुई अहम बैठक में बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस, बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जयसवाल, नित्यानंद राय, प्रेम कुमार, अमित शाह, राधामोहन और बी एल सन्तोष भी मौजूद रहे. 

बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक आरजेडी और अन्य दलों के प्रत्याशियों की पहली सूची के ऐलान के बाद बीजेपी की सूची में मौजूदा मंत्रियों या विधायकों के बेटों को टिकट दिए जाने की संभावना कम हो गई है. मौजूदा बीजेपी विधायको में से 4 या 5 विधायकों का टिकट कटा है, वहीं लगभग 50 मौजूदा विधायको को फिर से पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. संगठन से जुड़े कुछ नए  चेहरों को भी उम्मीदवार बनाये जाने की संभावना है. 

जातीय समीकरण का रखा गया ख्याल
गठबंधन के उम्मीदवारों के लिये भी इसी समीकरण का  ख्याल रखा गया है. बीजेपी इस बार यादव वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए कुछ सीटों पर यादव उम्मीदवार उतारेगी. माना जा रहा है कि जल्द ही बीजेपी उम्मीदवारों की सूची का ऐलान हो सकता है. 

ये भी पढ़ें- बिहार चुनाव से पहले चिराग पासवान का दिखा आक्रामक अंदाज, नीतीश कुमार पर जमकर बरसे

लोजपा के हटने को तवज्जो नहीं दी गई
बीजेपी नेताओं ने कहा है कि हम जदयू के साथ मजबूती से चुनाव लड़ेंगे. लोजपा के जाने से उनके सदाबहार गठबंधन पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा. मांझी और साहनी के साथ से गठबंधन को मजबूती मिलने की बात कही गई है. इस सिलसिले में मांझी को जदयू और साहनी को बीजेपी अपने कोटे से टिकट देगी.

प्रभारी समेत बड़े नेताओं की रवानगी
बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव समेत सभी  बिहार के बड़े नेताओं के आज रात तक पटना जाने की संभावना है. इस वजह से आज बीजेपी उम्मीदवारों के सूची जारी होने की सम्भावन कम लग रही है. 

कल पटना में हो सकता है बड़ा ऐलान
कल बीजेपी उम्मीदवारों और जेडीयू से सीट शेयरिंग का एलान पटना में होने की संभावना जताई गई है. दरअसल रविवार को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में लगभग सभी सीटों पर चर्चा हो चुकी है और आज पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा के घर पर हुई बैठक में भी पार्टी की सीटों और लोजपा को लेकर मंथन हुआ.

इस तरह माहौल बनाने की तैयारी 
पार्टी नेताओं का कहना है कि सीटों , गठबंधन और उम्मीदवारों को लेकर  चर्चा और बातचीत लगभग फाइनल हो गई है, और आगे सिर्फ प्रचार के तरीकों और रणनीति पर काम किया जाएगा. सम्भावना है कि जल्द ही पीएम मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की संयुक्त वर्चुअल सभा को अंतिम रूप दे दिया जाएगा. इस सभा के जरिये प्रदेश में एनडीए के पक्ष में सियासी हवा को अपने पक्ष में बनाने की कोशिश होगी.

वैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जदयू के अलावा कुछ बीजेपी उम्मीदवारों के लिये भी प्रचार किये जाने की पूरी संभावना है. बीजेपी नेताओं ने भरोसा जताया है कि बिहार में एक बार फिर जदयू और बीजेपी की सरकार बनेगी, जिसके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे. 

LIVE TV





Source Zee News

अपनी राय दें